कार्तिक पूर्णिमा पर अखंड भंडारा आरंभ


‘जो भी भूखा आएगा, भर पेट खाएगा’ के संकल्प के साथ कार्तिक पूर्णिमा पर शुक्रवार को मां काली शक्ति साधना केंद्र की ओर से भूखे को भोजन के उद्देश्य से त्रिवेणी बांध स्थित बड़े हनुमान मंदिर के करीब अखंड भंडारा आरंभ हुआ। इससे पहले सच्चा बाबा आश्रम के पुरोहितों पं.रुक्मिणी प्रसाद मिश्र, पं.राकेश पांडेय,, पं.मनीष शुक्ल के आचार्यत्व में संकल्प की पूर्णता के लिए याज्ञिक अनुष्ठान किया गया। माधव सेवा को आशीष देने अवधूत आशीष बाबा, जूना के महंत सत्यगिरि, शंकर गिरि, पं.रमाकांत द्विवेदी भी पहुंचे।

भंडारे में प्रसाद के लिए अतिविशिष्टजनों से लेकर रेती पर आए श्रद्धालु तक सभी आतुर रहे। लोगों ने कतार में लगकर भोजन प्रसाद ग्रहण किया तो संस्था के स्वयंसेवकों ने भी बिना किसी भेदभाव सभी को सत्कारपूर्वक प्रसाद बांटा। दोपहर से आरंभ भंडारा शाम तक चला। संयोजक अतुल मिश्र ‘गुड्डू भइया’ की देखरेख में हुए भंडारे में संजय श्रीवास्तव, कार्तिकेय नंदन, अन्नू सिंह, देवानंद त्रिपाठी, संकठा प्रसाद द्विवेदी, अनंत मिश्रा, कुलदीप सिंह, प्रदीप सिंह, दिनेश सिंह चंदेल, पंकज गुप्ता, अनिल पांडेय, दीपक दुबे, ललित शुक्ला आदि सहयोगी रहे।

प्रबंधक यशवंत सिंह के मुताबिक वैसे तो योजना के तहत दाल-भात, चावल-राजमा, चावल छोला, कढ़ी-चावल आदि परोसा जाएगा। लेकिन, पूर्णिमा पर खीर-पूड़ी का प्रसाद भी बंटेगा। कुंभ पर्व के दौरान भोजन का वितरण मेले में स्थापित शिविर से किया जाएगा। कुंभ पर्व के बाद भी अखंड भंडारा जारी रहेगा। सहयोगी सदस्यों की ओर से जन्मदिन, विवाह की वर्षगांठ जैसी तिथियों पर भंडारे की जिम्मेदारी वहन की जाएगी।